सेल्स गर्ल से वित्त मंत्री कैसे बनी निर्मला सीतारमण?

निर्मला सीतारमण का जन्म 18 अगस्त, 1959 को तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु में हुआ।

उनके पिता रेलवे में काम करते थे और माँ हाउसवाइफ और किताबों की बड़ी प्रेमी थीं।

MA के लिए दिल्ली के JNU गईं, जहां उन्होंने ग्लोबलाइजेशन का डिवेलपिंग कंट्रीज पर प्रभाव का अध्ययन किया।

जेएनयू में पढ़ाई के दौरान राजनीति में दिलचस्पी लेने लगीं और परकल प्रभाकर से मुलाकात हुई, जिनसे बाद में शादी की।

प्रभाकर जब लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से पीएचडी कर रहे थे, तब सीतारमण ने सेल्सगर्ल के तौर पर काम किया और पुरस्कृत हुईं।

1991 में अपने पति के साथ भारत वापस आ गईं। शिक्षा के क्षेत्र में कुछ समय काम किया।

2003-2005 के बीच राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य बनीं। 2006 में बीजेपी में शामिल हुईं।

2007 में उनके पति परकल प्रभाकर ने प्रजा राज्यम पार्टी ज्वाइन की, बाद में बीजेपी में शामिल हुए। निर्मला के सास-ससुर कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं।

2010 में बीजेपी की प्रवक्ता बनीं। 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने पर कैबिनेट मंत्री बनीं

अब नरेंद्र मोदी के तीसरे कार्यकाल में फुल टाइम वित्त मंत्री हैं।

जानें BUDGET से जुड़े कुछ रोचक तथ्य..

नीता अंबानी ने अपनी खूबसूरती से दोनों बहुओं को भी किया फैल

'Indian 2' से पहले देखनी चाहिए ये 7 Vigilante फ़िल्में

Rajasthanfirst.in Home